Taj Mahal History Essay and Facts in Hindi – ताज महल पर हिंदी में निबंध

By | May 20, 2020

Taj Mahal History Essay and Facts in Hindi – जब भी आप किसी विश्व धरोहर के बारे में जानना चाहते है तो आप के मन में आगरा का ताजमहल जरूर आता होगा। यह एक ऐसी रचना या कारीगरी है जिसको पूरी दुनिया के लोग जानतें है। यह इतना सुन्दर है कि पूरी दुनिया इसको देखने के लिए भारत आती है यह एक विश्व धरोहर भी है।

Taj Mahal History Essay and Facts in Hindi

सफ़ेद संगमरमर से बना यह महल, असीम प्रेम की निशानी है, ताजमहल का निर्माण 1632-1653 में मुग़ल शासक शाहजहाँ ने करवाया था, यह दुनिया के सात अजूबों (Seven Wonders of The World) में से एक है, ताजमहल को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल के रूप में घोषित किया है। इसको मानव की “अतिउत्तम मानवीय कृतियों” में जाना जाता है। दुनिया इसकी सुन्दरता की कायल है, हमारे देश में जब भी को विदेशी मेहमान या नेता आता है तो वह एक बार ताजमहल देखने जरूर जाता है आने वाले दिनों में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम भी भारत के दौरे पर आ रहे है वो भी प्राइम मिनिस्टर मोदी के साथ ताजमहल देखने जाने वाले है। कहा जाता है की शाहजहाँ ने इसका निर्माण करवाने के बाद अपने सभी कारीगरों के हाथ कटवा दिया था ताकि ऐसा महल फिर दुबारा कहीं भी नहीं बनाया जा सके।

Essay on Tajmahal in Hindi

आप ने ताजमहल के बारे में थोड़ा बहुत तो जरूर सुना होगा शायद आप इसके बारे में जानतें भी होगें, अगर आप इसके बारे में सोचते होगें तो आप का मन बार बार इसको देखने को जरूर कहता होगा। आइये जानते हैं ताजमहल से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियों के बारे में हिंदी में…

ताजमहल कहाँ स्थित है ? (Where is Located Tajmahal)

आगरा का ताजमहल भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में यमुना नदी के किनारे स्थित है। यानि भारत में एक शहर है आगरा वहीँ आगरे का ताजमहल है जिसको मुग़ल शासक शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज़ महल की याद में बनवाया था, यह आज भी वैसे ही है जैसे वर्षों पहले था।

कौन थी मुमताज़ महल ? (Infomation About Mumtaj Mahal Story)

मुमताज़ महल (1 Sept 1593 – 17 जून 1631) परसिया देश की राजकुमारी थी, जिन्होने भारत के शासक शाहजहाँ से निकाह किया था। मुमताज़ शाहजहाँ की सबसे चहेती पत्नी थी वो उसको बहुत अधिक प्यार करता था। सन 1631 में 37 वर्ष की उम्र में अपनी 14वीं संतान गौहरा बेगम को जन्म देते वक़्त मुमताज़ ने अपना दम तोड़ दिया…

ताजमहल के निर्माण का इतिहास महल कब बना व किसने बनवाया (History of Taj Mahalin Hindi) –

  • ताजमहल बनवाने का श्रेय पांचवें मुग़ल शासक शाहजहाँ को जाता है, शाहजहाँ ने भारत पर 1628 से 1658 तक शासन किया, शाहजहाँ ने अपनी सभी पत्नियों में प्रिय पत्नी मुमताज़ बेगम की याद में ताजमहल का निर्माण करवाया।
  • ताजमहल को “मुमताज़ का मकबरा” भी कहते हैं, मुमताज़ बेगम की मृत्यु के बाद शाहजहाँ बहुत गमगीन हो गए थे, तब उन्होंने अपनी पत्नी की याद में ताजमहल बनवाने का फैसला लिया और उनके निर्माण पर जोर देना शुरू कर दिया उसके बाद ताजमहल बनाने के लिए सब कुछ तैयारी होने लगी।
  • 1631 के बाद ही शाहजहाँ ने आधिकारिक रूप से ताजमहल का निर्माण कार्य की घोषणा की तथा 1632 में ताजमहल का निर्माण कार्य शुरू कर दिया।
  • ताजमहल के निर्माण में काफी समय लगा, वैसे तो इस मकबरे का निर्माण 1643 में ही पूरा हो गया था, परंतु इसके सभी पहलुओं के काम करते करते इसे बनाने में लगभग 10 साल और लग गए।
  • सम्पूर्ण ताजमहल का निर्माण 1653 में लगभग 320 लाख रुपये की लागत में हुआ, जिसकी आज की कीमत 52.8 अरब रुपये (827 Millons Dollor) है।
  • ताजमहल के निर्माण में 20,000 कारीगरों ने मुग़ल शिल्पकार उस्ताद अहमद लाहौरी के अधीन कार्य किया, निर्माण के बाद शाहजहाँ ने अपने सभी कारीगरों के हाथ कटवा दिए थे, ये वाकिया किसी ने देखा होगा तभी इसका जिक्र इतिहास में आया।

ताजमहल की संरचना तथ प्रारूप (Architecture of Taj Mahal) –

  • परसिया राजवंश की कला तथा कई मुग़ल भवन गुर-ए-आमिर, हुमायूँ का मकबरा, इतमादूद – दौलाह का मकबरा और शाहजहाँ की दिल्ली की जामा मस्जिद जैसे भवन ताजमहल के निर्माण कला का आधार है।
  • मुग़ल शासन काल में सभी महलों का निर्माण लाल पत्थर से किया जाता था मगर, ताजमहल निर्माण के लिए शाहजहाँ ने सफेद संगमरमर का इस्तेमाल करवाया था।
  • सफ़ेद संगमरमर पर कई प्रकार की नक्काशी तथा हीरे जड़ कर ताजमहल की दीवारों को सजाया गया.

ताजमहल के विभिन्न हिस्से (Sections of Taj Mahal) –

  • मकबरा
  • गुंबद
  • छतरियाँ
  • कलश
  • मीनार

ताजमहल से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी –

  • ताजमहल में मौजूद लेख फ्लोरिड ठुलूठ लिपि में लिखे गए थे।
  • इन लेख का श्रेय फारसी लिपिक अमानत खां को जाता है।
  • यह लेख जेस्पर को सफ़ेद संगमरमर के फलकों में जड़ कर लिखा गया था।
  • ताजमहल में लिखे लेख में कई सूरा वर्णित है, यह सूरा कुरान में मौजूद है।
  • इस सूरा में कुरान की कई आयतें है।
  • ताजमहल को विभिन्न नक्काशी एवं रत्नों को जड़ कर निर्मित किया गया है।
  • 2007 में नए सात अजूबों में ताजमहल ने फिर एक बार अपनी जगह बनाई।
  • अम्ल वर्षा के कारण सफ़ेद संगमरमर पीला पड़ने लगता है, जिससे ताजमहल की सुन्दरता दिनों दिन कम होती जा रही है।

ताजमहल पर 200 Words, 300 Words का निबंध

पिछले महीने जब मैं छुटटी पर था तब मुझे ताजमहल देखने का मौका मिला, ताजमहल एक ऐतिहासिक स्थान है यह आगरा में यमुना नदी के किनारे पर बना हुआ है ताजमहल को मुगल सम्राट शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया था ताजमहल को बनाने में 10000 लोगों ने 15-20 साल तक मेहनत की ताजमहल सफेद संगमरमर का बना है इसके चार मीनार हैं तथा बीच में एक गुंबद है

ताजमहल का तहखाना चौकोर है तथा इसके नीचे शाहजहां और मुमताज महल की कब्र है उसके सामने (Tajmahal) एक बगीचा बना हुआ है बगीचों के फूल तथा फव्वारे इसकी शोभा बढ़ाते है, डूबते हुए सूरज की मध्यम किरणों में ताज महल बहुत सुंदर लगता है यहाँ पर डेली भारत से तथा विश्व भर से कई सैलानी आते हैं चांदनी रात में ताजमहल बहुत सुन्दर और मनमोहक दिखाई देता है। ताजमहल की सुंदरता को शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता जो भी ताजमहल को देखने आता है वह इसकी सुंदरता से दंग रह जाता है, यह मेरी ताजमहल की पहली यात्रा थी मगर इसको देखने के बाद मेरा मन कहता है की इसको बार बार देखने आया जाय। यह इतना सुन्दर है की इसको देखने के बाद कोई भी चाहेगा की वो बार – बार इसको देखने आये।

ताजमहल के बारे में इंग्लिश में विकिपीडिया पर यहाँ पढ़ें Tajmahal in English

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल taj mahal history hindi essay पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें…

इसे भी पढ़ें –

परिश्रम का महत्व पर निबन्ध (1200 Words)

ग्रीनहाउस का दुनिया में प्रभाव पर निबंध

२१वी सदी का भारत निबंध (930 words)

(1100 Words)