Nausea Meaning in Hindi – जी मचलाना Symptoms & Treatment

Nausea Meaning in Hindi – जी मचलाना Symptoms & Treatment In Hindi

जानिए क्या होता है Nausea? Nausea Meaning In Hindi, Symptoms & Treatment

What is the Meaning of Nausea? इसके Common Systoms, Causes and Treatment के बारे में कुछ जानकारी मेरी कलम से, अगर सही तरीके से इलाज और Treatment के साथ घरेलू उपाय किया जाय, तो यह समस्या बहुत ही आसानी से ठीक हो सकती है। जी मचलाना और मिचली आना बहुत ही ख़राब Condition होती है, कुछ मामलों में इसको लोग अच्छा भी समझते है। एक सामान्य लोग को जब ऐसा होता है तो मन हमेशा ख़राब रहता है कुछ अच्छा नहीं लगता है। इस Condition से मन में हमेशा एक बेचैनी सी होती रहती है , कभी – कभी तो Heartbeat भी तेज हो जाती है। जिसके कारण ब्यक्ति को हल्की आवाज भी Irritate करती है, हमेशा Vomiting जैसा महसूस होता है, लेकिन उल्टी नहीं होती है। Nausea कभी कुछ देर के लिए होता है तो कभी लम्बे समय तक। कम हो या ज्यादा यह Nausea हमारे सेहद के लिए ठीक नहीं होता है।

nausea meaning in hindi

Nausea Meaning In Hindi – जी मिचलाना

Nausea को उबकाई, मिचली जैसे शब्दों से भी इसको सम्बोधित किया जाता है।

अब आप को Nausea का मतलब पता चल गया होगा आईये Nausea के बारे में कुछ और बाते जानते है।

जी मचलाना के लक्षण – Symptoms of Nausea

मिचली या मतली बहुत लोग इसको कई नाम से बोलते है का आना आम लक्षण होता है। इससे ग्रसित ब्यक्ति को उल्टियां आने लगती है। इसके आने के कुछ लक्षण इस प्रकार है।

चक्कर आना
मुँह हमेशा सूखा रहना
बेहोशी
दस्त का आना
पेट दर्द होना
बुखार आना

ऐसे Conditions में ज्यादा मिचली आती है।

जी मचलाना (Nausea) के कारण = Causes of Nausea

जी मचलाना कई कारणों से होता है, इसके मुख्य कारण कुछ इस प्रकार है।

1. सबसे पहली समस्या पेट में गड़बड़ी – पेट के समस्या भी, जी मचलाना का कारण बन सकता है, क्योंकि यदि हमारा पेट ठीक नहीं है तो हमारा मन भी अशांत रहने लगता है जिसके कारण चिड़चिड़ापन होने लगता है।

2. अधिक खाना, जरुरत से ज्यादा खाना भी, जी मचलाना की Problems हो सकती है, इसलिए हमें जरुरत से ज्यादा खाना नहीं खाना चाहिए

3. गर्भावस्था – Female में मिचली की Problems मुख्यता उनके गर्भावस्था से समय में ज्यादा होती है।

4. तनाव – यदि आप किसी बात को लेकर अधिक चिंतित रहते है तो आप को यह समस्या हो सकती है।

5. शराब ज्यादा पीने से – अधिक शराब पीने वाले ब्यक्ति को भी यह समस्या हो सकती है। क्योंकि अधिक शराब पीने से दिमाक का संतुलन बिगड़ जाता है। जिसके कारन ब्यक्ति को मिचली आने की Problems होती है।

जी मिचलाना (Nausea) के घरेलु उपाय – इन उपायों से आप को फायदा मिलेगा।

अगर कभी भी आप का जी मचलना जैसा होता है तो आप घरेलु उपचार से भी उसको ठीक कर सकते है,

जब कभी आप को मतली जैसी Problems होती है तो सबसे पहले एक जगह आराम से बैठ जाएं और कुछ देर तक आराम करें उसके बाद नीचे दिए गये Gharelu उपचार में से कोई प्रयोग करके आप अपनी समस्या से निजात पा सकते है।

1. आनर का जूस – मिचली आने की Problems को आनर के Juice से कुछ हद तक ठीक किया जा सकता है, ऐसे में आप को 4 ग्राम इलाइची को कूट कर पाउडर बना लेना चाहिए, इस पाउडर को अनार के Juice में मिलाकर पीने से मिचली जैसी समस्या में लाभ होता है।

2. नीबू – Leman में विटामिन C प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो हमारे पेट के लिए बहुत ही Beneficial होता है। या फिर एक गिलास पानी में नीबू का रस निचोड़ कर पीने से या फिर नीबू को चूसने से Nausea की Problems में आराम मिलता है।

3. चावल या जायफल – कुछ कच्चे चावल लेकर उसको 5 मिनट तक पानी में भिगोकर रख दे, 5 मिनट के बाद चावल को पानी से बहार निकल ले और अब जायफल को घिस कर इस चावल के पानी में मिलाकर पीने से Nausea में लाभ होता है।

4. गीले कपड़े का प्रयोग – अगर आप को जी मचलाने की समस्या हो रही है तो आप एक साफ कपडे को भिगोकर अपने Forehead पर रखें ऐसा करने से बहुत जल्द ही आप को जी मचलाना ठीक हो जायेगा।

5. जैसी समस्या होने पर आप को आराम करने की जरुरत होती है अगर आप Office में काम करते है तो ऐसा होने पर कुछ देर तक अपने चेयर पर ही बैठे रहे उसके बाद ही कहीं जाएँ या कोई काम करें।

6. गहरी सांस ले – यदि आप बेचैनी महसूस कर रहे है, या फिर आप को अपना मन भरी लग रहा है तो आप को गहरी सांस लेना चाहिए ऐसा करने से आप Relex महसूस करेगें।

दोस्तों, यह लेख आप को कैसा लगा, कमेंट शेयर जरूर करियेगा।

जिस किसी को भी Nausea की समस्या होती है वो लोग कुछ बातों का ध्यान रखेंगे तो उनको कभी दुबारा ऐसी Problems नहीं होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *