Himachal Pradesh – Tourism Capital History & News हिमाचल प्रदेश

Himachal Pradesh – Tourism Capital History & News हिमाचल प्रदेश

Himachal Pradesh in Hindi – हिमाचल प्रदेश की पूरी जानकारी हिंदी में Himachal Pradesh in Hindi

हिमाचल प्रदेश उत्तर-पश्चिमी भारत में स्थित एक State है तथा उत्तर में जम्मू कश्मीर, पश्चिम तथा दक्षिण-पश्चिम में पंजाब, दक्षिण में हरियाणा एवं उत्तर प्रदेश, दक्षिण-पूर्व में उत्तराखण्ड तथा पूर्व में तिब्बत से घिरा हुआ है। हिमाचल प्रदेश का शाब्दिक अर्थ बर्फ़ीले पहाड़ों का State है। हिमाचल प्रदेश को देव भूमि के नाम से भी जाना जाता है। इस क्षेत्र में आर्यों का प्रभाव ऋग्वेद से भी पुराना है, सन 1857 तक यह महाराजा रणजीत सिंह के शासन के अधीन पंजाब राज्य [पंजाब हिल्स के सीबा राज्य को छोड़कर] का हिस्सा था। सन 1950 मे इसे केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया, लेकिन 1971 मे इसे, हिमाचल प्रदेश राज्य अधिनियम-1971 के अन्तर्गत इसे 25 जून 1971 को भारत का अठारहवाँ राज्य बनाया गया। ट्रान्सपरेन्सी इंटरनैशनल के 2005 के सर्वेक्षण के अनुसार, Himachal Pradesh देश में Kerala के बाद दूसरी सबसे कम भ्रष्ट राज्य है। राज्य की अर्थव्यवस्था तीन प्रमुख कारकों पर निर्भर करती है जो हैं, पनबिजली, पर्यटन और कृषि।Himachal Pradesh

राज्य (State) – हिमांचल प्रदेश
राज्य दिवस (Establishment Day) – 15 अप्रैल
राजधानी (Capital) – शिमला
उच्च न्यायालय (High Court) – शिमला
क्षेत्रफल (Area) – 55,673 वर्ग किमी
जिले (Dist) – 12

राजकीय पशु (State Animal) – कस्तूरी मृग
राष्ट्रीय पार्क (National Park) – ग्रेट हिमालय नेशनल पार्क
वन्य प्राणी विहार (wildlife Sanctuaries) – मनाली, चायल, दरन घाटी तथा गोविन्द सागर
राजकीय पक्षी (State Bird) – मोनाल विज़न (फैजेंट)
भाषा (Language) – हिंदी

जनसँख्या (Population) – 68,56,509 (Census 2011)
पुरुष जनसँख्या (Male Population) – 30,87,940 (Census 2001)
महिला जनसँख्या (Female Population) – 29,89,960 (Census 2001)
ग्रामीण जनसँख्या (Rural Population) – 54,82,319
नगरीय जनसँख्या (Urban Population) – 5,95,581 (9.80%)
जनसँख्या घन्त्व (Population Density) – 123 प्रति वर्ग किमी
लिंगानुपात (Sex Ratio) – 968 (Census 2001)
साक्षरता दर (Literacy Rate) – 76.5%

पुरुष साक्षरता दर (Male Literacy Rate) – 85.3%
महिला साक्षरता दर (Female Literacy Rate) – 67.4%
अनुसूचित जाती जनसँख्या प्रतिशत – 24.7%
अनुसूचित जनजाति जनसँख्या प्रतिशत – 4.0%

सीमा (Boarder) – उत्तर में जम्मू-कश्मीर, दक्षिण में हरियाणा, दक्षिण-पूर्व में उत्तर प्रदेश, दक्षिण-पश्चिम में पंजाब तथा पूर्व में तिब्बत (चीन)
पर्वत (Mountain) – शिवालिक, पीरपंजाल, जास्कर तथा महाहिमालय की चोटियाँ

प्रमुख शिखर – शिल्ला (7,026 मी), रिवो फरगयाल (6,791 मी), चुड्घार (3,637 मी), देवटीब्बा (6,000 मी), परगौड़ (6,400 मी)

दर्रे – बारा लाचा ला (4,883 मी लाहौल-लद्दाख), पीन-पार्वती (3,319 मी कुल्लू-लाहौल) तथा चुआरी (3,150 मी, चंबा-कांगड़ा)

नदियाँ – सतलज, व्यास, चिनाब, (टुंडी लाहौल में चन्द्र तथा भागा नदियों के मिलाने के बाद), रावी, टोंस, गिरी तथा बाटा

झीलें (Lakes) – रेवलसर (मंडी), रेणुका, (नाहन), मणिमहेश, सूरजताल, यमुना त्सो (लाहौल-स्पीती) खज्जर झील (चंबा), गोविन्द सागर, कमरुनाग, पाराशर झील (मंडी), चंद्रताल झील, ढकरछोर झील, मणि झील, नैनोर झील (कुल्लू), दसाहर झील, महाकाली व् भृगु झील, व्यास्कुंड झील (मनाली), शोलषा झील, रेबावर झील, सेरेलेस्कर व् पांग झील, नेहरू कुंड, भागसूनाग कैरेरी झील, डललेक, चंद्रनाहन झील

विधानमंडल – एकसदनात्मक
विधानसभा सदस्यों की संख्या -68
राज्य में निर्वाचित लोकसभा सदस्यों की संख्या -4
राज्य में निर्वाचित राज्यसभा सदस्यों की संख्या -3

सिचाई तथा जल विद्दुत परियोजनाएं – गिरी, बाटा, भाबौर साहिब प्रथम, शाहनहर परियोजना, बैरा-शियोल, पार्वती विद्दुत परियोजना, कोल बांध योजना, ऊल्ह नदी परियोजना, संजय विद्दुत परियोजना, नाथपा-झाकरी परियोजना, रुकटी परियोजना, (किन्नौर), रोंगट परियोजना (लाहौल-स्पीती), बिनवा परियोजना

खनिज – चट्टानी नमक (मंडी जिले की की द्रांग तथा गुमा खाने), चूना पत्थर (विलासपुर), (सिरमौर तथा मंडी), स्लेट (विलासपुर, चंबा तथा सिरमौर), जिप्सम (सिरमौर), यूरेनियम (कुल्लू घाटी), बैरायिट्स, डोलोमाईट तथा पायराइट्स ।

प्रमुख उद्द्योग (Major Industries) – फ्रूट प्रोसेसिंग (परवानू), इलेक्ट्रॉनिक उद्द्योग (शोझाई), सीमेंट (पोंटा साहब), उर्वरक (विलासपुर, धरमकोट, सिरमौर), शराब (सोलन), अखबारी कागज (सतलज-व्यास बेसिन), तारपीन का तेल (विलासपुर, नाहन), बन्दूक निर्माण (नाहन) आदि ।

कुछ महत्वपूर्ण बिंदु (Important Points)

(i) पौराणिक आख्यानो में हिमांचल प्रदेश को यक्षो, गन्धर्वो और किन्नरों का प्रदेश बताया गया है । (ii) अप्रैल 1984 में इस क्षेत्र की 27,000 वर्ग किमी में फैली लगभग 30 रियासतों को मिलाकर इस राज्य को केन्द्रशासित प्रदेश बनाया गया । (iii) नवम्बर 1966 में इस में पंजाब के पहाडी क्षेत्रों (कांगड़ा, कुल्लू, लाहौल व् स्पीती) को मिलाकर इसका पुनर्गठन किया गया तो इसका क्षेत्रफल बढ़कर55,673 वर्ग किमी हो गया । (iv) 25जनवरी, 1971को इसे भारत का 18वा राज्य बनाया गया ।(v) राज्य के किन्नौर जिले का ‘शिपकि दर्रा’ (14,000 फुट) तिब्बत का द्वार कहलाता है । (vi) पर्यटकों के आकर्षण के मुख्य स्थान हैं – शिमला, पालमपुर, धर्मशाला, कुल्लू मनाली और चंबा-डलहौजी । (vii) तीर्थयात्रियों के आकर्षण के प्रमुख मंदिर हैं – भीम काली, सरहान, हटकोठी, ज्वालाजी, चामुंडा देवी, चिंतपूर्णी, रेणुका और रेवालसर, देवस्थ सिद्ध तथा नैना देवी । केलौंग, काजा, सांगला, शोजा, कालपा, खाडराला, खारापठार, चिंदी, भरमैर, चंसल और नग्गर किले में पर्यटन केंद्र स्थापित किये जा रहे है ।

जानिए Himachal Pradesh की पूरी जानकारी English में Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *