Aatankwad Ki Samasya Essay in Hindi – आतंकवाद की समस्या पर निबंध

What is Terrorism Problem in India, (Terrorism Causes, Types and Solution In Hindi)

आतंकवाद पर निबंध, कक्षा 4, 5, 6, 7, 8, 10, 11 और 12 के विद्यार्थियों के लिए

आज भारत ही नहीं बरन पूरी दुनिया एक ऐसी समस्या से परेशान है जिसका नाम है आतंकवाद, यह एक ऐसा शब्द जो पूरी दुनिया को परेशान कर रहा है अमेरिका हो या भारत, इराक हो या ईरान, श्रीलंका हो या बंगलादेश दुनिया के सभी देश इससे बहुत ही परेशान है। आज हमारे देश का बच्चा बच्चा यह जनता है की आंतकवाद देश के लिए एक बहुत बड़ा खतरा है। हिंदुस्तान में स्वतंत्रता की लड़ाई के समय अंग्रेज स्वतंत्रता सेनानियों को आंतंकवादी समझते थे, जबकि वो लोग तो अपने हक़ के लिए लड़ाई लड़ रहे थे। कई बार ऐसा होता था की स्वतंत्रता सेनानियों की लड़ाई बहुत उग्र रूप ले लेती थी, हर हिंसा करने वाला आतंकवादी नहीं होता, लेकिन हर अहिंसावादी आतंकवादी न हो ये भी जरुरी नहीं है।

आतंकवाद क्या है ? (What is Terrorism)

Essay-On-Terrorism-In-Hindi

आतंकवाद एक तरह से गैर कानूनी कार्य होता है, जो आम लोगों के अंदर हिंसा का डर पैदा करने के मकसद से किया जाता है। यह मानव जाति के लिए बहुत ही बड़ा खतरा है। कोई भी इन्सान या इंसानों का ग्रुप जो कहीं भी हिंसा फैलाये, दंगे फसाद करवाए, चोरी, अपहरण, लड़ाई-झगड़ा, बम ब्लास्ट करता है तो ऐसे सभी गतिविधियों को हम आतंकवाद कह सकते है।

भारत में पहली बार आतंकवाद नक्सलवादीयों के रूप में 1967 में बंगाल के क्षेत्र पाया गया था जहाँ कुछ लोग बहुत उग्र हो गए थे। वो लोग अपनी बातों को मनवाने के लिए नक्सलवादीयों का रूप धर कर आये थे। यही से भारत में आतंकवाद ने जन्म लिया वैसे इसके बारे में कुछ सठिक जानकारी किसी के पास नहीं है मगर बताया यही जाता है।

आंतकवाद की समस्या के कारण (Cause of Terrorism Problem in Hindi) –

आधुनिक हथियारों जैसे बन्दूक, मशीन गन, तोपें, एटम बोम, हाईड्रोजन बम, परमाणु हथियार, मिसाइल का अधिक मात्रा में निर्माण होना।
आबादी का बहुत तेजी से बढ़ना।
राजनैतिक, सामाजिक, अर्थव्यवस्था में बदलाव।
देश की व्यवस्था अच्छी न होने पर लोगों में असंतुष्ट का भाव।
देश में शिक्षा की कमी।
लोगों का गलत संगती में पड़ना।
बहकावे में आ जाना।

आतंकवाद के इसके अलावा बहुत से कारण हो सकते है जैसे देश के प्रति विद्रोह, असंतोष, भ्रष्टाचार, जातिवाद, आर्थिक विषमता, भाषा का मतभेद ये सभी भी आतंकवाद के कारण हो सकते है। खूब पैसा कमाने की चाहते में लोग आतंकवाद का हाथ थाम लेते है और गलत काम करके रातों रात अमीर बन जाते है, यह भी एक कटु सत्य है यह सिर्फ फिल्मों में ही नहीं होता है आजकल असल जिंदगी में ही ऐसी घटनाएं हो रही है।

आतंकवाद का असर/ दुष्परिणाम (Effect of Terrorism) –

सामाजिक व राजनैतिक सिस्टम पर इसका काफी बुरा प्रभाव पड़ रहा है। आतंकवाद का असर सबसे ज्यादा आम जनता को ही झेलना होता है। आतंकवाद लोगों में दर पैदा कर देता है, यह एक बहुत ही बुरा काम है जो लोग इसको करते है वो इंसान नहीं होते है

  • लोगों में डर पैदा होना।
  • राज्य, देश में असुरक्षित महसूस करना।
  • सरकारों का कमजोर पड़ जाना।
  • आतंकवाद को मुद्दा बनाकर किसी भी सरकार को गिराया जा सकता है।
  • आतंकवाद के चलते लाखों की सम्पति नष्ट हो जाती है, हजारों लाखों मासूमों की जान चली जाती है।
  • इसी लपेटे में कई सारे जीव-जंतु भी मारे जाते है।
  • मानवजाति पर से लोगों का विश्वास उठने लगता है।
  • आतंकवादी गतिविधि देखने के बाद दूसरा आतंकवादी भी पैदा होता है।

देश-विदेश के विभिन्न क्षेत्र में आतंकवाद – एक झलक

11 सितम्बर 2001 में, विश्व के सबसे शक्तिशाली देश के सबसे ऊँची ईमारत पर ओसामा बिन लादेन ने आतंकवादी हमला करवाया था, जिसमे 3000 से ज्यादा लोगों की जाने चली गयी थी। इसके बाद अमेरिका ने अपने सबसे बड़े दुश्मन लादेन को बहुत ही फ़िल्मी अंदाज में मारा था और उसको मारकर संदर में बहुत गहराई में डलवा दिया था , जिसका सही सही पता आज भी दुनिया के लिए एक रहस्य बना है कोई सही से नहीं जान सका की लादेन कहाँ गया।

2015 में पाकिस्तान में करांची के स्कूल में आतंकवाद जिसमे कई बच्चों की जाने गयी थी।

अभी कुछ साल पहले बंगलादेश में भी ऐसी ही ऐसी ही घटना देखने को मिली थी।

ऐसे ही पूरी दुनिया में आज आतंकवाद फ़ैल रहा है खाड़ी के देशों से पनपा ये आतंकवाद कई देश में अपना पैठ बना चूका है कई देश ऐसे है जिनको आज आतंकवादी देश की संज्ञा लोग देते है आप भी उस देश के बारे में जानतें होगें।

आतंकवाद हादसे भारत में (Terrorism Attack India) –

2001 में संसद भवन में दिन दहाड़े आतंकवादी हमला
2006 में मुंबई की लोकल ट्रेन में आतंकवादी हमला, 11 min के अन्तराल में 7 बम ब्लास्ट
2008 में मुंबई की होटल ताज व ओबरॉय में आतंकवादी हमला

आतंकवाद के कारण ही हमारे देश में कई बड़े नेताओं की हत्या भी हो गयी है, यह एक बहुत ही भयंकर समस्या है जिससे पूरी दुनिया को मिलकर निपटना चाहिए। 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है

आतंकवाद की समस्या का निदान (Solution of Terrorism Problem) –

भारत में धर्म को लेकर बहुत सारी समस्या है अगर हम सभी धर्म को अच्छे से समझे तो इससे निजाद पाया जा सकता है।
आतंकवाद को दूर करने के लिए अच्छी शिक्षा की बहुत जरूरत है।
आतंकवाद से निपटने के लिए देश दुनिया को मिल कर काम करना होगा।

यह एक ऐसी समस्या बनती जा रही है जिसको केवल एक देश नहीं ठीक कर सकता है इसके लिए पूरी दुनिया को एक होना होगा तभी जाकर इस समस्या से निजाद पाया जा सकता है।

(900 Words)

अन्य पढ़े:

२१वी सदी का भारत निबंध (930 words)

ग्रीनहाउस का दुनिया में प्रभाव (निबंध)

सौर उर्जा पर लेख [Hindi]

यातायात (Traffic) की समस्या व निदान

Related Searches –

essay on aatankwad in hindi with headings
aatankwad ek samasya nibandh
aatankwad essay in hindi with heading
short essay on aatankwad in hindi
aatankwad essay in hindi pdf
aatankwad par nibandh heading ke sath
aatankwad ek vaishvik samasya
essay on terrorism in hindi pdf